कई बार के पार्षद होने के बावजूद बरती इतनी बड़ी लापरवाही

पूर्व सभपति की कोरोना पॉजिटिव होने की पुष्टि उन्होंने खुद की है, संपर्क में आये लोगों को सावधान रहने कहा है

कोरोना संक्रमण रोकने के प्रोटोकाल के पालन में जनप्रतिनिधी ही बार बार लापरवाही बरत रहे हैं। कभी कांग्रेस का कोई बड़ा नेता
जन्मदिन मनता है तो कोई सभा का आयोजन करता है। भाजपा के बड़े-बड़े नेता भी इसमें पीछे नहीं। इस भीषण संकट काल और कोरोना
संक्रमण के बीच कांग्रेस, भाजपा और और आरएसएस के बड़े-बड़े नेता प्रदेश का दौरा कर रहे हैं इसी बीच।

भाजपा के सीनियर लीडर और
रायपुर नगर निगम के पूर्व सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा की बड़ी लापरवाही सामने आई है। कोरोना संक्रमित होने के बावजूद प्रफुल्ल विश्वकर्मा स्वतंत्रता दिवस के मौके पर कई वार्डों में आयोजित ध्वजारोहण कार्यक्रम में शामिल हुए। इस दौरान प्रफुल्ल विश्वकर्मा भीड़ में शामिल हुए। पूर्व सभापति के संक्रमित होने की खबर से
कार्यक्रम में शामिल भाजपाके गुढ़ियारी मंडल के कार्यकर्ताओं में हड़कंप मच गया है।

बता दें की प्रफुल्ल विश्वकर्मा कई बार के पार्षद, नेता प्रतिपक्ष और सभपति रह चुके हैं।
13 अगस्त को कोरोना टैस्ट के लिए सैंपल दिया था 14 अगस्त को उनकी रिपोर्ट पाजिटिव आई इसके बावजूद वह सार्वजनिक
कार्यक्रमों में शामिल हुए। जबकि यह महामारी अधिनियम का उल्लंघन है। नियमानुसार कोरोना जांच के लिए सैंपल देने के बाद
व्यक्ति को होम आइसोलेशन में रहना होता है। सार्वजनिक जगहों पर जाने पर व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर तक का प्रवाधान है।


वहीं इस मामले में पूर्व सभापति प्रफुल्ल विश्वकर्मा का कहना है की उन्होने सैंपल दिया था लेकिन उन्हे रिपोर्ट पाजिटिव होने की जानकारी नहीं थी।
वर्ना वो भीड़ में शामिल नहीं होते।

अब देखना होगा की ऐसे मामला में आम आदमी के खिलाफ FIR तक हो जाती है लेकिन इन नेताओं के
खिलाफ क्या कार्रवाई होती है देखने वाली बात होगी। बता दें की इसके पहले यही लापरवाही कांग्रेस के पार्षद अमितेश भारद्वाज ने की थी
लेकिन उनके खिलाफ भी कोई कार्रवाई नहीं हुई थी।


BJP EX PARSHAD EX MUNCIPAL PRESIDENT ATTEND PUBLIC PROGRAMME AFTER BEING CORONA POSITIVE RAIPUR CHHATTISGARHI

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You missed